आतंक के खिलाफ लड़ाई में सहयोग बढाएंगे भारत और ताजिकिस्तान

modi-tajikistan-tourआतंक के ‘‘मुख्य स्रोत’’ के करीब स्थित भारत और ताजिकिस्तान ने आज प्रण किया कि वे आतंकवाद के खिलाफ लडाई में आपसी सहयोग को और बढाएंगे । दोनों देशों ने व्यापार और निवेश बढाने के अलावा रक्षा संबंध मजबूत करने पर भी सहमति बनायी ।

छह देशों की आठ दिवसीय यात्रा के अंतिम चरण में यहां पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमामअली रहमान से मुलाकात की । दोनों पक्ष ने विविध क्षेत्रों में संबंधों को नयी उंचाइयों पर ले जाने का संकल्प किया ।

मोदी कल रात ही किर्गिस्तान से ताजिकिस्तान पहुंचे हैं । उनका परंपरागत स्वागत किया गया । उसके बाद रहमान के साथ पहले अलग से और फिर प्रतिनिधि स्तर की वार्ता हुई ।

बातचीत के बाद रहमान के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में मोदी ने पाकिस्तान और अफगानिस्तान का नाम लिये बिना कहा, ‘‘ हम आतंकवाद के मुख्य स्रोत के निकट स्थित हैं । ’’ उन्होंने कहा कि जब आतंकवाद का खतरा बढ रहा है, हमने अपने सहयोग को और बढाने का फैसला किया है ।

मोदी ने कहा कि आतंकवाद और उग्रवाद का मुकाबला करना हमेशा से सहयोग का महत्वपूर्ण और उपयोगी क्षेत्र रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.