कलिनरी आर्ट्स रसोई कॅरिअर की

career-in-culinary-artsअगर भविष्य में आप अपने लिए एक नये कॅरिअर को सूंघ रहे हैं, तो हो सकता है, आप रसोई की ओर बढ़ रहे हों। कलिनरी आर्ट्स या खाना बनाने की कला में कॅरिअर दिलचस्प होता है क्योंकि न सिर्फ काम करने में मजा आता है बल्कि आप अध्ययन और अन्य सांस्कृतिक परंपराओं को समझने के लिए विदेश की यात्रा भी कर सकते हैं। गौरतलब है कि अमेरिका में प्रशिक्षण पाये शैफ्स के लिए दुनिया भर में जबरदस्त काम उपलब्ध है। कार्य विकल्पों के अलावा विदेशों में बहुत से शानदार कलिनरी आर्ट्स स्कूल भी हैं, जो आपको शैफ के पद के लिए अमेरिका और दुनिया के बाकी देशों में अधिक आकर्षक उम्मीदवार बना देते हैं।

 

करना क्या है

कलिनरी आर्ट्स अविश्र्वसनीय लाभ और कलात्मक कॅरिअर प्रदान करा सकती है। साथ ही शैफ्स को यह अवसर भी मिलते हैं कि वे नई डिशें विकसित करें और पुरानियों को परफेक्ट करें। लेकिन रसोई में सफल कॅरिअर के लिए शानदार कलिनरी कौशल के अलावा कुछ और चीजों की भी आवश्यकता होती है। अमेरिकन कलिनरी फेडरेशन के सर्टिफिकेशन प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर और पंजीकृत एग्जीक्यूटिव शैफ रॉबर्ट क्लार्क का कहना है कि अच्छा शैफ बनने के लिए जरूरी है कि आप शिक्षित हों, आपको गहरा अनुभव हो, काम के प्रति समर्पण भाव हो और कड़ी मेहनत आप कर सकते हों। इसके अलावा यह भी जरूरी है कि आप में प्रशासनिक कुशलता हो, खासकर स्टाफ में लोगों को रखने की क्षमता। आप व्यापार का पूर्वानुमान लगा सकते हों और उसी के अनुसार कर्मचारियों का शिड्यूल निर्धारित कर सकते हों।

 

विदेशों में कुक

अमेरिका में 700 से अधिक कुकिंग स्कूल हैं। इनमें से लगभग 70 अमेरिकन कलिनरी फेडरेशन द्वारा प्रमाणित हैं। अगर आपने कलिनरी आर्ट्स का अध्ययन किया है और आपको रेस्तरां में काम करने का अनुभव भी है, तो आप फेडरेशन द्वारा दिये जाने वाले सर्टिफिकेशन लेवल्स में से किसी एक को हासिल कर सकते हैं। रॉबर्ट क्लार्क के अनुसार, “”यह सर्टिफिकेट अधिकतर देशों में मान्यता प्राप्त है। दुनिया भर में उन शैफ्स के लिए काम और पैसे की कोई कमी नहीं है, जो अपनी कला का अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।”

 

जरूरत है विशेषज्ञों की

हाल के वर्षों में नये रेस्तरां की संख्या में जबरदस्त इजाफा हुआ है और उम्मीद है कि वृद्घि का यह चलन जारी रहेगा, क्योंकि जनसंख्या बढ़ रही है, हाउसहोल्ड आय में बढ़ोत्तरी हो रही है और लोग आराम के पल भी गुजारने में पीछे नहीं हट रहे हैं। इसके अलावा दोनों पति-पत्नी काम पर जा रहे हैं जिससे घर के बाहर खाना खाने की सुविधा पर निर्भरता कम होने की बजाए बढ़ेगी ही। नये रेस्तरां की संख्या में इजाफा होने की वजह से हर रेस्तरां अपने आपको अलग या थोड़ा हटकर साबित करना चाहता है। इसके लिए वह अधिक विशिष्ट मेन्यू और माहौल प्रदान करना चाहता है। विदेश में प्रशिक्षण पाये शैफ विशिष्ट स्थानीय डिशों के ज्ञान या क्षेत्रीय स्वाद को प्रदर्शित करने में सक्षम होते हैं और इसलिए स्पेशलाइ़ज्ड रेस्तरां में उनकी मांग हमेशा रहती है।

 

अलग रहें, अगर….

कुकिंग एक कला है और ज्यादातर कलाओं की तरह इसे अपनाना भी कठिन काम है। यहां यह बताना भी आवश्यक है कि अधिकतर कलिनरी स्कूलों में फीस बहुत जबरदस्त है और कलिनरी आर्ट्स में कॅरिअर बनाने के लिए शुरुआत में अपना ही पैसा लगाने की जरूरत पड़ती है। कलिनरी आर्ट्स में सर्टिफिकेशन हासिल करने के बाद भी आपको कई साल तक कम वेतन वाले जॉब बर्दाश्त करने पड़ सकते हैं।

अमेरिका के श्रम विभाग द्वारा प्रकाशित पुस्तक “आक्युपेशनल आउटलुक हैंडबुक’ के अनुसार औसत दर्जे के रेस्तरां में काम करने वाले शैफ्स की 2002 में औसत आय 9.16 डॉलर प्रति घंटा थी। इसके अलावा शैफ को अनेक कुंठाओं को बर्दाश्त करना भी आना चाहिए जैसे समय का दबाव, तंग जगहों पर काम करना और भारी-भरकम चीजों को उठाना। अगर यह खामियां आपको विचलित नहीं करतीं, तो आप रसोई में कॅरिअर बना सकते हैं। लेकिन आपको अंतर्राष्टीय कलिनरी स्टार बनने के लिए कांटों भरी राहों से गुजरना होगा। अगर आप तमाम तकलीफों को बर्दाश्त करके स्टार बन जाते हैं तो फिर पैसे और शोहरत की इस प्रोफेशन में कोई कमी नहीं है।

 

– विवेक कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published.