छोटा लिविंग-रूम

small-living-roomछोटे-लिविंग रूम को सजाना चुनौतीपूर्ण कार्य है, क्योंकि हर कोने व हर जगह की देखभाल की आवश्यकता होती है। फिर मौसम के हिसाब से भी कमरे को सजाना होता है। यहां आपको ऐसे ही लिविंग-रूम को सजाने के टिप्स दिये जा रहे हैं।

सबसे पहली बात तो यह है कि अपने छोटे लिविंग-रूम को आपको ऐसी लुक देनी होगी, जैसे वह बहुत बड़ा हो। ऐसा दीवारों पर कूल रंग- पर्पल, पिंक, ब्लू, ग्रीन के हल्के शेड-पेंट करने से हो जायेगा।

दीवारों पर हल्के रंग हमेशा किसी भी कमरे को खुला, बड़ा व कूल लुक प्रदान करते हैं और आपका कमरा और भी अधिक बड़ा नजर आयेगा। अपने छोटे रूम के लिए एक ही परिवार से रंगों का चयन करें। अगर आप छत पर ग्रीन रंग का हल्का शेड इस्तेमाल कर रहे हैं तो थोड़ा-सा इसी रंग का डार्क शेड बाकी दीवारों पर प्रयोग करें। कमरे में दिलचस्पी पैदा करने के लिए आप ग्लॉसी और मैटी पेन्ट्स का मिश्रण इस्तेमाल कर सकते हैं, जाहिर है एक ही रंग के। मैटी पेन्ट दीवारों पर इस्तेमाल करें और ग्लॉसी पेंट दरवाजों और खिड़कियों के टिम्स पर। प्राकृतिक रोशनी को कमरे में आने दें।

मुलायम फैब्रिक के पर्दे चुनें, क्योंकि वह हवा को आर-पार होने देते हैं। मुलायम फैब्रिक के पर्दों से लिविंग-रूम में भव्यता आती है। कमरे को ऊंचाई देने के लिए आप पर्दों को सीधे छत से टांग सकते हैं। पर्दे का शेड छत या दीवारों के रंग जैसा होना चाहिए या फिर उसका थोड़ा- सा डार्क शेड भी चल सकता है। लेकिन ध्यान रहे कि वह बहुत अधिक डार्क न हो। आप मिक्स एंड मैच पर्दों का चयन कर सकते हैं, लेकिन उनका दीवारों के रंग से अच्छा तालमेल बैठना चाहिए। फर्श पर न्यूटल शेड का कालीन इस्तेमाल करें, क्योंकि वह किसी भी किस्म की सजावट के साथ चल जाता है।

कमरे के लिए हल्के शेड के टाइल्स चुनें। बड़े फ्रेम या ओवर साइज्ड सीन के इस्तेमाल से छोटा लिविंग-रूम भी बड़ा प्रतीत होता है। बड़े सीनों को विशेष रूप से अपार्टमेंट में वरीयता दी जाती है, क्योंकि उनमें ज्यादा कमरे नहीं होते हैं। इस तरह वह अलग लिविंग स्पेस के उद्देश्य की भी पूर्ति करता है।

बहुत ज्यादा फर्नीचर न खरीदें, क्योंकि उससे कमरा उल्टा-सीधा भरा नजर आयेगा। अपनी जरूरत के हिसाब से फर्नीचर खरीद सकते हैं। फर्नीचर के बड़े-बड़े पीस का चयन न करें। स्मॉल-स्केल फर्नीचर को वरीयता दें। आप सजावटी थीम का चयन कर सकते हैं-समकालीन, परंपरागत या कोई अन्य। …और फिर चुने हुए थीम के अनुसार छोटे लिविंग-रूम के अनुकूल एक्सेसरीज का चयन करें, लेकिन एक सीमा में ही, हर चीज की अति बुरी होती है, यह सिद्घांत यहां भी लागू होता है। आपको अपने पसंदीदा चुने हुए थीम के अनुसार स्मॉल स्केल फर्नीचर बाजार में मिल जायेंगे। आप अपने सजावट संबंधी विचारों को भी अमल में ला सकते हैं, इससे आपकी शख्सियत के अनुसार कमरे में नयापन आ जायेगा। छोटे-छोटे सजावट संबंधी विचार आपके छोटे लिविंग-रूम में बहुत बड़ा फर्क ला सकते हैं।

अपने छोटे लिविंग-रूम में हमेशा लंबे पौधे रखें, लेकिन तभी, जब उन्हें वहां रखने की जगह हो। कमरे में जगह को खुलापन प्रदान करने के लिए आईनों और लाईट फिक्सचर का कॉबीनेशन इस्तेमाल करें। छत पर आईने न लगायें। लिविंग-रूम के दरवाजे के एकदम विपरीत दिशा में आईने को न रखें।

जहां तक संभव हो, छत की सभी खुली हुई वीक्स को ढकने का प्रयास करें। छोटे आइटम न खरीदें, सिर्फ वही खरीदें, जो वास्तव में आवश्यक हैं। बड़ी संख्या में छोटी चीजें खरीदने की बजाय, छोटी संख्या में बड़ी चीजें खरीदें।

– प्रवेश कुमार सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published.