जरा सोचिए आपको प्रमोशन क्यों नहीं मिल रहा?

think-about-why-are-you-not-getting-promotionनौकरी के दौरान कई बार ऐसा देखने को मिलता है कि कई लोगों को लंबे समय तक प्रमोशन नहीं मिलता, वहीं कुछ ऐसे लोग भी देखे जाते हैं जिन्हें सामान्य समय से पहले प्रमोशन मिल जाता है। जिन लोगों को काफी समय गुजर जाने के बाद भी प्रमोशन नहीं मिलता, उनमें इस कारण निराशा और कुंठा पनपने लगती है। लेकिन यह निराशा और कुंठा इस समस्या का समाधान नहीं है। यहॉं हम आपको बताएँगे कि आखिर क्यों किसी को समय से पहले और किसी को काफी समय गुजर जाने के बाद भी प्रमोशन नहीं मिलता? इसकी तह में कुछ बड़ी तो कुछ बेहद मामूली वजहें होती हैं, जिन्हें हम अक्सर सोच भी नहीं पाते कि वे हमारी उन्नति का रास्ता रोक लेंगीं, मगर हकीकत की दुनिया में ऐसा होता है। मसलन, क्या ऐसा है कि आप जिन दिनों ऑफिस में वर्कलोड ज्यादा होता है, अक्सर ऑफिस समय पर नहीं पहुँच पाते और शाम को ठीक समय पर ऑफिस छोड़ देते हैं? क्या ऐसा है कि साल के शुरु के तीन महीनों में ही आप अपनी बीमारी की छुट्टियॉं गॅंवा बैठते हैं और आकस्मिक छुट्टियॉं भी खत्म हो जाती हैं?

भले ही ये बातें मामूली लगती हों, लेकिन इन बातों का आपके प्रमोशन से सीधा-सीधा रिश्ता होता है। इसके अलावा जो बातें प्रमोशन रोकने का कारण बनती हैं, वो कुछ इस तरह हैं-

  • आप दिए गए काम को समय पर पूरा नहीं कर पाते
  • महत्वपूर्ण मीटिंग्स में अक्सर लेट पहुंचते हैं

भले आपके पास इन तमाम बातों के लिए ठोस वजहें हों। लेकिन कंपनी को आपकी इन वजहों से कुछ लेना-देना नहीं होता। हर कंपनी हर हाल में अपने कामगार से अनुशासित व्यवहार की अपेक्षा रखती है। किसी न किसी के साथ कोई न कोई समस्या तो हर समय रहती ही है। याद रखें, कंपनी में सिर्फ आप अकेले ही काम करने वाले नहीं हैं। उनके पास आप जैसे न जाने कितने लोग होते हैं, जिनके विषय में उन्हें सोचना होता है। आपके साथ भले ही कितनी बड़ी समस्या हो, हर कंपनी चाहती है कि आप किसी भी हाल में ऑफिस नियत समय पर पहुंचें। इसलिए वक्त के पाबंद न होने पर भी प्रमोशन का सपना लंबे समय तक एक सपना बना रह सकता है।

कुछ ऐसे कर्मचारी होते हैं, जो काम की दृष्टि से भले बहुत योग्य न हों, लेकिन ऑफिस में समय पर पहुंचते हैं और इस तरह ऑफिस के अनुशासन को बरकरार रखने में मदद करते हैं। अक्सर देखा गया है कि प्रमोशन की कतार में उनका नंबर पहले आता है, क्योंकि कंपनी के लिए वह भले काम के लिहाज से औसत हों, लेकिन कंपनी में वर्क कल्चर को बनाए रखने में उनका योगदान महत्वपूर्ण होता है। इसलिए कंपनी उनकी परफॉर्मेंस को संतोषजनक और प्रमोशन के लायक मानती है।

यदि प्रमोशन पाना है तो आपको अतिरिक्त प्रयास करके अपने आपको प्रमोशन के लायक साबित करना होगा। यह मानकर चलें कि अगर प्रमोशन नहीं मिला तो आप उसके लिए कुछ अतिरिक्त प्रयास नहीं कर रहे। लंबे समय तक एक पद पर रहने का एक बड़ा कारण यह भी हो सकता है कि आपका बॉस आपको वहीं बनाए रखने में कंपनी का हित समझता हो। इसमें समस्या यह हो सकती है कि आप इतने अच्छे हैं कि उस अच्छाई से आपका नुकसान हो रहा है। क्या ऐसा है कि आप अपने काम को इतने बेहतर ढंग से करते हैं कि आपके बॉस को आपके जितना योग्य कोई दूसरा व्यक्ति नहीं मिल रहा, जिसे आपके स्थान पर रखकर आपको प्रमोशन दिया जा सके? इस वजह से आप लंबे समय से उसी पद पर बने हुए हैं। इससे अप्रत्यक्ष तौर पर आपको नुकसान हो रहा होता है।

अगर ऐसी स्थिति है तो इस संबंध में अपने बॉस से स्पष्ट तौर पर बात करें और अगर फिर भी बात न बन रही हो तो अपने लिए कोई नया रास्ता, कोई नई जगह ढूंढ़ें वरना आपके कॅरियर में ठहराव आ जाएगा। कुछ लोगों का लंबे समय तक प्रमोशन इस वजह से भी रुका रहता है कि उनकी इमेज अच्छी नहीं होती। वह अपने आपको वरिष्ठ पद के लायक समझते हैं और वह होते भी हैं। लेकिन वह वरिष्ठ व्यक्ति जैसा व्यवहार नहीं करते या कर पाते। वास्तव में अगर आपको लगता है कि आप जिस पद पर हैं, उससे सीनियर पद के योग्य हैं तो आपको सिर्फ इसका दावा ही नहीं करना होगा बल्कि अपने कामकाज के जरिए इसे साबित भी करना होगा तभी आप जरूरी प्रमोशन हासिल कर सकते हैं।

यदि आप में नेतृत्व करने की क्षमता है और कंपनी आपकी इस खूबी से वाकिफ है तो देर या सवेर आपको प्रमोशन मिल सकता है। लेकिन अगर आपकी नेतृत्व क्षमता का कंपनी को पता नहीं है तो यह आप पर ही है कि किसी न किसी समय कंपनी को अपनी नेतृत्व क्षमता से परिचित कराएं। लेकिन इसके लिए आपको उपयुक्त अवसर की तलाश करनी पड़ेगी। आप यह नहीं कह सकते कि मुझे अवसर दीजिए। अवसर आपको ही खोजना पड़ेगा। अगर आपने अवसर न मिलने की खीज उतारी तो इससे फायदे की जगह उल्टा नुकसान हो सकता है। कहने का मतलब यह है कि आपको इसके लिए धैर्य और अनुशासन का सहारा लेना पड़ेगा।

ऑफिस में जो लोग आपको पसंद नहीं करते, आपकी वर्क परफॉर्मेंस से ईर्ष्या करते हैं, वे लोग आपके ऑफिस के जीवन को मुश्किल बनाने के लिए हर संभव प्रयास करते हैं और उनका यह प्रयास होता है कि आपको प्रमोशन न हासिल हो। ऐसा है तो याद रखें कि सिर्फ बेहतर काम करने से ही बात नहीं बनेगी। आपको एक मोर्चा अपने उन विरोधियों से भी लेना होगा, जो जानबूझकर आपकी अच्छी-भली परफॉर्मेंस को बेमतलब बनाने या बताने की कोशिश में रहते हैं और कामयाब भी हो जाते हैं।

क्या ऐसा है कि आप अपनी वर्तमान नौकरी को ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं मानते? अगर ऐसा है तो इससे एक नकारात्मक संदेश जाता है। प्रबंधन इससे आपको महत्वपूर्ण जिम्मेदारी नहीं सौंपता। चूंकि आपको महत्वपूर्ण जिम्मेदारी नहीं मिली होती, इसलिए आपको प्रमोशन भी समय से नहीं मिल पाता। इसलिए अगर आप अपनी मौजूदा नौकरी से संतुष्ट न हों तो उसे जितना जल्दी छोड़ें उतना ही आपके लिए सही है और कपंनी के लिए भी वरना आप भी तनाव में रहेंगे और कंपनी भी आपको खुद पर बोझ समझेगी।

दरअसल, कई बार होता यह है कि आप जिन गलतियों को बहुत मामूली समझते हैं या गलतियां मानते ही नहीं, वह भी आपके अच्छे-बुरे, आपके मेधावी या सामान्य होने की मेरिट तय करती है और ऐसे में आप अपनी छोटी-छोटी गलतियों से उन बड़े-बड़े फायदों से वंचित हो जाते हैं जिनमें एक प्रमोशन भी है। इसलिए न सिर्फ अनुशासन और समर्पण से काम करना जरूरी है बल्कि अपनी छवि और अपने व्यवहार को लेकर भी लगातार सजग रहना जरूरी है तभी प्रमोशन की सूची में आपका नाम ऊपर की ओर दर्ज होगा।

 

– नरेन्द्र कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published.