डेट पर जानें उसके दिल का रा़ज

डेट के दौरान किसी को भी न सिर्फ नजदीक से देखने, उसे सुनने और उसे अपनी बात सुनाने का मौका मिलता है, बल्कि इस मुलाकात के दौरान किसी की अच्छी-खासी परख भी की जा सकती है, बशर्ते आपको बॉडी लैंग्वेज पढ़ने की कला आती हो।

जी, हां! अगर आपको बॉडी लैंग्वेज की समझ है तो आपको यह समझने में कभी नहीं चूक होगी कि आप किसके साथ दूरगामी रिश्तों के सपने बुन रही हैं, वह सपने हकीकत में बदलेंगे या बस ख्वाब ही बने रहेंगे? अगर आपको बॉडी लैंग्वेज की समझ है तो आप अपने ब्वॉयफ्रेंड की पर्सनैलिटी के बारे में वो तमाम अनकही बातें भी जान सकती हैं जिनका जिा वह आपसे कभी नहीं करता या जिन्हें वह शायद आपसे कभी न बताना चाहे। अगर आपको बॉडी लैंग्वेज पढ़ने की तमीज है तो यह लेख आपके लिए नहीं है, क्योंकि इस लेख को पढ़कर हासिल होने वाले फायदों को आप इसे बिना पढ़े ही हासिल करना जानती हैं। यह लेख उन युवतियों के लिए है, जो अपने ब्वॉयफ्रेंड को गहराई से जानना और समझना तो चाहती हैं, मगर उन्हें बॉडी लैंग्वेज की समझ नहीं है।

इस लेख में हम बॉडी लैंग्वेज के कुछ बुनियादी संकेतों या इशारों की बात करेंगे, जिनसे आप बहुत कुछ जान सकती हैं। …तो चलो शुरूआत करें। शुरूआत डेट के दौरान मिलने और मिलने के बाद कहीं बैठने से करते हैं। जब डेट पर अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ बैठी हों तो उसके हाव-भाव, उसके बैठने के ढंग यानी पोस्चर पर ध्यान दें और खुद से एक सवाल पूछें- क्या वह बिल्कुल ईजी है? क्या वह रिलैक्स महसूस कर रहा है? अगर आपको इन सवालों का जवाब “हां’ में मिलता है, तो मुबारक हो आपकी शुरूआत बिल्कुल सही है। आप जिसके साथ दोस्ती बढ़ाने, सपने बुनने की सोच रही हैं, वह राइट च्वॉइस है। वह आपके साथ खुश है तभी रिलैक्स है। वह आपके साथ से रोमांचित है। इसीलिए वह ई़जी है।

लेकिन अगर आपको ऊपर के सवालों के जवाब “न’ में मिलते हैं तो सावधान हो जाएं, हालांकि चिंतित होने की जरूरत नहीं है। हां, पर यह पता लगाने की जरूर जरूरत है कि आखिर वह आपके साथ कंफर्टेबल क्यों नहीं महसूस कर रहा? वह इस कदर असहज क्यों है? अगर आपने अचानक अपनी सीट बदली है तो ध्यान देने की बात है कि क्या आपका ब्वॉयफ्रेंड भी ऐसा करता है? अगर हां तो वह आपको पसंद कर रहा है और आपके साथ नजदीकियां बढ़ाना चाहता है। एक और बात पर ध्यान दें, क्या आप और आपके ब्वॉयफ्रेंड की बातचीत का संदर्भ और उसमें उत्साह एक जैसा है या फिर आप एकतरफा बोलती हैं और वह सुनता है? जब कोई किसी को तहेदिल से पसंद नहीं कर रहा होता तो उसे उसकी बातचीत के टोन को पिक करने में भी मुश्किल होती है। सामने वाला व्यक्ति हंसता है तो वह एक फीकी-सी मुस्कान भर बिखेर कर रह जाता है। इसका मतलब होता है कि सामने वाला व्यक्ति आपके साथ किसी संकोच, मर्यादा या चयन की स्थिति न होने के चलते है। अगर आपका ब्वॉयफ्रेंड आपके साथ बातचीत में हाजिर जवाब है, एनर्जेटिक दिख रहा है तो इसका मतलब है कि वह रिलेशनशिप के लिए उत्सुक है और अगर पहले से ही संबंध मौजूद हैं तो वह इन्हें बहुत आगे ले जाने की ख्वाहिश रखता है। कहने का मतलब यह है कि आपका रिश्ता सही रास्ते पर है।

किसी को छूना महज छूना नहीं होता, बल्कि अपनी भावनाओं का संदेश दूसरे के दिल तक पहुंचाने का जरिया होता है- स्पर्श। इसलिए उसके स्पर्श पर ध्यान दें। क्या वह आपके साथ रहते हुए यूं ही जाने-अनजाने आपके हाथों को छूता है और क्या उसके हाथ का स्पर्श पाते ही आप में विशेष किस्म की सनसनाहट होने लगती है? अगर ऐसा है तो आपका ब्वॉयफ्रेंड आपको लेकर बहुत ही पॉजिसिव है। वह आपसे स्थाई रिश्ते का इच्छुक है। लेकिन अगर बातचीत के दौरान या यूं ही साथ-साथ बैठे कहीं धोखे से भी वह आपको स्पर्श नहीं करता और अगर आप धोखे से या जानबूझकर भी उसे स्पर्श करती हैं तो उसमें किसी तरह की गर्मजोशी नहीं दिखती, खून का दौरा नहीं बढ़ता। गर्माहट का अनुभव नहीं होता तो यह महज जिस्म का ठंडापन नहीं है, यह भावनाओं और आपके रिश्ते में भी ठंडक होने का सबूत है।

दुनिया की सबसे समृद्घ भाषा नजरों की भाषा होती है और उसे पढ़ने व समझने के लिए किसी भी स्कूल में जाने की जरूरत नहीं पड़ती। आपने इशारा सही समझा है, हम आपस में नजरें मिलने-मिलाने के तरीके पर ही अपना ध्यान केंद्रित करने जा रहे हैं। क्या आपका ब्वॉयफ्रेंड आपसे बातचीत के दौरान जरूरत पड़ने पर आपसे नजरें मिलाता है? क्या आप दोनों का आई-कांटैंक्ट गहरा है? अगर आपका ब्वॉयफ्रेंड आपके साथ नजरें चार होने पर पलकें झपकाना भूल जाता है या नजरें नहीं झुकाता और बिना होंठों से कुछ कहे इशारों में कहने की कोशिश करता है तो यह संकेत ही नहीं सबूत है कि आपके रिश्ते पटरी पर जा रहे हैं। बॉडी लैंग्वेज में आई-कांटैक्ट खासा मायने रखता है। गहरी नजरें यानी तीखा आई-कांटैक्ट दोतरफा आकर्षण का तो संकेत होता ही है, साथ ही यह इस बात का भी सबूत होता है कि आप दोनों की केमिस्टी एक-दूसरे के अनुकूल है।

इसके उलट, यदि आपके ब्वॉयफ्रेंड की नजरें आप पर फिसलती हुई-सी मिलती हैं या जब आप उसकी नजरों में नजरें डालने की कोशिश करती हैं तो वह चौंककर बगलें झांकने लगता है तो साफ है कि वो आपसे बचना चाहता है या फिलहाल आपको लेकर स्पष्ट नहीं है। वह एक द्वंद से गुजर रहा है। ऐसे में बेहतर है कि उसे बख्श दें। बार-बार उसे परखने की कोशिश न करें, क्योंकि ज्यादा परखने से मन की तसल्ली जाती रहेगी। अगर आई-कांटैक्ट गाढ़ा नहीं है तो यह इस बात का सबूत है कि उसके दिलोदिमाग में आपको लेकर कई तस्वीरें घूम रही हैं और वह तय नहीं कर पा रहा है कि वह आपको किस फ्रेम में फिट करे।

लेकिन आई-कांटैक्ट सही न होने का मतलब 100 प्रतिशत यह भी नहीं है कि वह आपके साथ आगे न बढ़ने का मन बना चुका है। आई-कांटैक्ट एक विकासशील प्रिाया यानी निर्णय लेने के दौरान की स्थिति भी हो सकती है। हो सकता है, वह आपके बारे में निर्णय लेने के मंथन से गुजर रहा हो और वह निर्णय अंततः आपके पक्ष में ही हो। इसलिए अगर आप अपने ब्वॉयफ्रेंड को हर हाल में अपना बनाना चाहती हैं तो इस स्थिति को बेहतर स्थिति में बदलने की कोशिश करें। अपने आई-कांटैक्ट को बेहतर बनाएं। यह जानने की कोशिश करें कि आखिर वह आपसे नजरें बचाने की कोशिश क्यों कर रहा है? हो सकता है, कोई ऐसी बात हो जो वह आपको बताना न चाहता हो, क्योंकि उसे आप पर विश्र्वास न हो रहा हो। उसे जानें और विश्र्वास में लेने की कोशिश करें। एक और बात का ध्यान रखें, अगर आपका ब्वॉयफ्रेंड आपके साथ बैठे होने के समय बार-बार अपनी पीठ कुर्सी से लगाता है, पीछे की ओर झुकता है, सही तरह से आपकी बातों में “हां’ या “न’ की प्रतििाया नहीं कर पाता तो इसका मतलब यह है कि वह आप पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे रहा है। आपसे जितना जल्दी हो मुक्ति चाहता है। ऐसे में अच्छा यही है कि वह कोई रास्ता ढूंढ़े, इससे बेहतर है कि उसके पहले आप ही रास्ता ढूंढ़ लें।

– माहिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.