तेरा जीवन दो दिन का, तेरा रहना दो दिन का भजन

तेरा जीवन दो दिन का, तेरा रहना दो दिन का।
जय जय सीता राम, जय जय राधेश्याम।
गाये जा, हो तेरा जीवन दो दिन का॥ टेर ॥
मोर मुकट पिातम्बर सोहे, गल वैजयन्ती माला।
साँवली सूरत मोहनी मूरत, चिर बढाने वाला॥ 1 ॥
यदि कल्याण चाहा था अपना, भजो श्री भगवाना।
नहीं पिछे पछतावेगा, तेरे संग चलेना धन धाना॥ 2 ॥
भव बाधा मेरी मेटो प्रभुजी, दिजो मोहे वरदाना।
दिनदयाल दया करके प्रभु, दास को पार लगाना।

Leave a Reply

Your email address will not be published.