नवरात्री

आसोज सुदी 1 को नवरात्री शुरु होती हैं, बहुत जन माताजी की स्थापना करते हैं हम वो नहीं करते हैं आसोज सुदी सातम को बहुचारजी मन्दिर नियम से जाते हैं। यहाँ पर नवरात्रि में गरबो का विशेष उत्सव होता है।शारदीय नौ राते दुर्गा देवीकी अर्चना-पूजा, युवा दिलों की उमंग से थिरकते पांव एक अनूठा आनन्द देते हैं। डांडिया की घनघनाहट, कृष्ण रास गीतों की गुनगुनाहट मन को मोह लेती हैं।

आया नवरात्रि त्यौहार, छाया हर्ष अपार
बाजे-ढोल नगारा- छाई डांडियो की बाहार
खेले गरबा गोरडी ले संग में भरतार
हर्षोल्लास से हम मनाते है यह त्यौहार

Leave a Reply

Your email address will not be published.