भानुमती का पिटारा

  • प्याज काटने से पहेले उसे ठंडे पानी में रखने से आँखें जलती नहीं हैं।
  • मलाई में से मक्खन बनाने से पहले मक्खन में एक चम्मच पीसी हुई शक्कर डालने से मक्खन जल्दी तैयार होता है।
  • हल्दी पाउडर, चने का आटा, दूध, नींबू का रस- सबका पेस्ट बना कर इस्तेमाल करने से चेहरे का कालापन दूर होता है और चेहरे पर निखार आता है।
  • सुबह-सुबह नीम की दो-चार पत्तियों को चबाकर खाने से पेट साफ रहता है तथा मलेरिया रोग से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • बालों के टूटने से समस्या दूर करने के लिए देशी अण्डे तथा उसमें सरसों का तेल मिलाकर धोने से बालों को टूटने से बचाया जा सकता है।
  • चने के आटे को दही में घोलकर लुगदी जैसा बनाकर चेहरे पर लगाने से चेहरे का कालापन दूर हो जाता है।
  • शिशु को उल्टी होने पर नींबू के रस में कुछ बूंदें पानी मिलाकर पिलायें, शिशु दूध नहीं उलटेगा।
  • छोटे बच्चों को दस्त हो तो गर्म दूध में चुटकी भर पिसी हुई दालचीनी डालकर पिलायें, आराम मिलेगा।
  • अगर हिचकी रुक नहीं रही हो तो अपने दोनों कानों में उंगली डाल कर थोड़ी देर के लिए सांस रोकें, इससे हिचकियॉं बंद हो जाएँगी।
  • सब्जी छौंकते वक्त दीवार काफी गंदी हो जाती है। दो प्याज बीच में से काटकर पानी में उबालें, फिर उसी उबले प्याज के टुकड़ों से पेंट की हुई सतह साफ करें, सभी दाग-धब्बे साफ हो जाएँगे।
  • मूंगफली, तिल, खसखस- भूनकर व पीसकर रख लें। सूखी व भरवॉं सब्जियों में इनका प्रयोग करें। सब्जी का ़जायका बढ़ जाएगा।
  • चावल पकाते समय उसमें एक छोटा टुकड़ा दालचीनी का व लौंग डाल देने से चावल स्वादिष्ट व सुगन्धमय पकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.