शरीर का फिलडर!

दोस्तों, तुमने बड़े लोगों की ये सलाह तो अक्सर सुनी होगी कि पानी हमेशा छानकर पीना चाहिए। इसके लिए फिल्टर का इस्तेमाल भी तुमने देखा ही होगा।

पर क्या तुम ये जानते हो कि हमारे शरीर में भी खून को साफ करने और उसमें से गंदगी निकालने के लिए एक फिल्टर है… उसका क्या नाम है? हॉं, हॉं बताओ? हॉं तुमने बिल्कुल ठीक पहचाना।

किडनी…यानी गुर्दे… हमारे शरीर में किडनी नामक अंग खून से बेकार और हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने का काम करता है। सारे शरीर का लगभग एक टन खून 24 घंटों में पूरा का पूरा किडनी से गुजर जाता है।

जैसा कि हम जानते हैं, खून एक ऐसा माध्यम है जो शरीर के सभी अंगों तक पहुँचता है और सभी अंगों को उनकी ़जरूरत का पोषण पहुँचाता है तथा उनसे फालतू व नुकसान करने वाले पदार्थों को अपने भीतर ले लेता है। लेकिन इस प्रकार के हानिकारक पदार्थों को खून से बाहर फेंकना भी बहुत ़जरूरी है। यदि ऐसे पदार्थ खून में ही बने रहें और शरीर में बहते रहें तो प्राणी का जीवन ही खतरे में आ सकता है। इसलिए इन पदार्थों को बाहर फेंकना बहुत ़जरूरी है।

किडनी हमारे शरीर में खून को फिल्टर करने का काम करती है। ये संख्या में दो होती है। पूरे शरीर का खून छानने वाले इन अंगों का आकार 11 से 13 सेमी तक का ही होता है तथा इनमें असंख्य छोटी-छोटी पतली ट्यूब के समान रचनाएँ होती हैं जो खून छानने का काम करती हैं। दोनों किडनियों में इन ट्यूब्स की संख्या 110 किमी. लंबी होती है।

खून में उपस्थित सारे पानी को छान लिया जाता है, लेकिन इसके साथ समस्या यह होती है कि अशुद्घियों के साथ सारा का सारा पानी भी छन जाता है और ये तो तुम जानते ही हो कि पानी हमारे शरीर के लिए अत्यंत आवश्यक पदार्थ है। इसलिए इसे हर कीमत पर बचाना ़जरूरी होता है। इसीलिए ़जरूरत के पानी को अधिक से अधिक मात्रा में सोखने का महत्वपूर्ण काम इन्हीं के जिम्मे होता है। अतः किडनी उत्सर्जन के साथ-साथ अवशोषण का भी महत्वपूर्ण काम करती हैं। प्रकृति की वैज्ञानिक रचना देखो कि अशुद्घियों और हानिकारक पदार्थों को अवशोषित नहीं किया जाता और इन्हें यूरिन के माध्यम से बाहर निकाल दिया जाता है।

अब तुमने जान लिया न कि किडनी या गुर्दे हमारे शरीर का कितना महत्वपूर्ण अंग हैं और यह कितने प्रभावी ढंग से पूरे शरीर के खून को छानने का काम करते हैं।

– सीमा पांडे

Leave a Reply

Your email address will not be published.