समुद्र कैसे बने?

samudra-kaise-baneदोस्तों, क्या कभी आपने सोचा कि इस पृथ्वी ग्रह पर समुद्र कैसे बने?

दरअसल, हमारी पृथ्वी पर आज भी ऐसी बहुत-सी ची़जें हैं, जो हमारे लिए रहस्य हैं। समुद्र भी उनमें से एक है। हम तो असल में यह भी नहीं जानते कि समुद्र कितने पुराने हैं। लेकिन यह निश्र्चित प्रतीत होता है कि पृथ्वी के शुरूआती दौर में समुद्र मौजूद नहीं थे। शायद वह पहले भाप के बादलों के रूप में आये और जैसे-जैसे जमीन ठंडी होने लगी वह पानी में बदलने लगे। आज समुद्र में जो मिनरल साल्ट मौजूद है, उसके आधार पर जो अनुमान लगाया गया है, उससे समुद्र की उम्र 50,000,000 और 1,000,000,000 वर्षों के बीच आंकी गयी है।

शुरू में समुद्र पृथ्वी पर कितना फैला हुआ था, इस सवाल के बारे में वैज्ञानिकों को लगभग य़कीन है कि एक समय पृथ्वी की ज्यादातर जमीन समुद्र से ढकी हुई थी। पृथ्वी के कुछ क्षेत्र तो कई बार पानी के नीचे रहे हैं। लेकिन हमें यह नहीं मालूम है कि गहरे समुद्र का कोई हिस्सा कभी जमीन था, या जो जमीन आज मौजूद है, वह कभी गहरे समुद्र के नीचे थी। बहरहाल, इस बात के काफी सबूत हैं कि जमीन के कुछ हिस्से छिछले समुद्र के नीचे थे। मसलन, ़जमीन पर जो लाइमस्टोन, सैंडस्टोन और शेल मिलता है; वह समुद्र की ही तलछट है। कैट, ससेक्स और बिल्टशायर में जो चॉक मिलता है वह भी समुद्र में ही था। सूक्ष्म प्राणियों की शैल समुद्र में डूब गयीं और उससे वह बना, जिसे हम चॉक कहते हैं।

आज पृथ्वी का तकरीबन तीन-चौथाई भाग समुद्र से ढंका हुआ है। वैसे समुद्र के बहुत से ऐसे क्षेत्र हैं जिनके नीचे तक इन्सान अभी नहीं पहुंच सका है या उसकी साउंडिंग्स नहीं ली है। लेकिन समुद्र के निचले हिस्से के बारे में अच्छी-खासी जानकारी उपलब्ध है। नीचे कुछ हिस्से तो पर्वतीय श्रृंखला की तरह हैं और वहां पठार व समतल मैदान  भी हैं। लेकिन वह इतने भिन्न नहीं हैं, जैसे कि जमीन की सतह।

Leave a Reply

Your email address will not be published.