सिंघाड़े का हलवा

सिंघाड़े के आटे में घी डालकर अच्छी तरह भूरा होने तक भूनें। अब चीनी डालें व पानी डालकर, आँच धीमी करके बराबर चलाती जाएँ, ताकि गांठें न पड़ने पाएँ। एक थाली में घी लगा कर चिकना कर लें। हलवा जब गाढ़ा हो जाए और पानी न रहे, तब इसे थाली में जमा दें। ठंडा होने पर मनचाहे आकार में काट सकते हैं।

नमकीन दालमोठ

आलू के लच्छे को भूनकर रख लें। थोड़े से काजू के छोटे टुकड़ों को भून लें अथवा मूंगफली के दानों को भून लें। सब सामग्री एक साथ मिलाएँ और कुछ किशमिश डालें। इसमें फलाहारी नमक (सेंधा) मिलाकर खाएँ, टेस्टी लगेगा।

साबूदाने के पकौड़े

सामग्री – साबूदाना 1 कटोरी, 1 कटोरी सिंघाड़े का आटा, बारीक कटा हरा धनिया, हरी मिर्च, सौंफ 1 चम्मच, नमक व लाल मिर्च स्वादानुसार।

विधि – साबूदाने को पानी में भिगोकर 4-5 घंटों के लिए रखें। अब इसमें सिंघाड़े का आटा, नमक, मिर्च, सौंफ, बारीक कटा हरा धनिया, मिर्च डालें व पानी डाल कर पकौड़े का घोल बना लें। कड़ाही में तेल गर्म कर पकौड़े डालें व सुनहरे होने तक तलें। गर्मागर्म फलाहारी पकौड़े दही के साथ सर्व करें।

आलू का हलवा

सामग्री – उबले हुए आलू एक किलो, 50 ग्राम घी, 50 ग्राम मावा, 75 ग्राम चीनी।

विधि – घी गर्म होने पर, उबले हुए आलुओं को मसलकर घी में डालकर अच्छी तरह चलाएँ। गैस की आँच धीमी करके बराबर चलाते हुए भूरा होने तक भूनें और चीनी डाल दें। थोड़ा-सा पानी का छींटा भी दें। अंत में मावा डालकर, बराबर अच्छी तरह चला कर आँच पर से उतार लें। गरम-गरम परोसें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.