अयोध्या में मधूरा मधूरा भजन

अयोध्या में मधूरा मधूरा, बोले मोर।
दादर मोरे पपीहा बोले, कोयल करत किलोल॥
अयोध्या में झीना झीना बोले मोर ॥ टेर ॥
त्रेता युग रा चैत्र मास में।
नवमी ने लिनो अवतार ॥ 1 ॥
सरयू केे तीर अयोध्या नगरी।
रामजी लिनो है अवतार ॥ 2 ॥
हाथी घोडा दान दिरीजे।
होय रही जय जयकार ॥ 3 ॥
ऋषि मुनि दर्सन ने आया।
होय रहीया मंगला चार ॥ 4 ॥
मात कौसल्या करे आरती।
रामजी खिलाया गोदीयाँ माँहि ॥ 5 ॥
रावण मार राम घर आया।
तुलसी दास जश गाय ॥ 6 ॥

Leave a Reply

Your email address will not be published.