घुड़दौड़ कब शुरू हुई?

दोस्तों, तकरीबन दुनिया के हर बड़े शहर में रेसकोर्स मौजूद है। जिन्हें देखने के बाद यह सवाल पैदा होता है कि आखिर घुड़दौड़ की परंपरा कब आरंभ हुई होगी?

घोड़ों को रेस के लिए इस्तेमाल करना इंसान का सबसे पुराना खेल है। घुड़दौड़ प्राचीन समय में भी की जाती थी। मिस्र, बेबीलोनिया और सीरिया में इसका विशेष प्रचलन था। होमर ने अपनी पुस्तक “इलियार्ड’ में एक ऐसी रथ-दौड़ का जिा किया है जो ईसा से आठ शताब्दी पूर्व आयोजित की गई थी।

लेकिन यह बात तो प्राचीन दौर की हुई। सवाल अभी वहीं का वहीं है कि आधुनिक घुड़दौड़ कहां शुरू हुई थी।

वास्तव में इसका ताल्लुक इंग्लैंड से है। जहां 12वीं शताब्दी में अच्छी नस्ल के घोड़े पैदा करने का जब सिलसिला शुरू हुआ तो घुड़दौड़ भी शुरू हो गई। वैसे 17वीं शताब्दी के आखिर में घुड़दौड़ के लिए विशेष रूप से घोड़ों को ब्रीड किया जाने लगा।

ब्रीडिंग के लिए घोड़े अरब, तुर्की और फारस से मंगाये जाते थे। जबकि मादा घोड़े इंग्लैंड के ही होते थे। इनमें तीन नर घोड़े बहुत महत्वपूर्ण थे- डारले अरेबियन, गाडालियन अरेबियन और बारली तुर्क। आधुनिक घोड़ों की नस्ल इन्हीं तीन घोड़ों से मानी जाती है। जब 18वीं शताब्दी में घुड़दौड़ अंग्रे़जी स्पोट्र्स का महत्वपूर्ण अंग बन गया, तो 1751 में जॉकी क्लब स्थापित किया गया और 1793 में पहली जनरल स्टेट बुक जारी की गई जो अच्छी नस्ल के घोड़ों के वंश को लिस्ट करती है। चूँकि यह घोड़े बहुत महंगे होते थे, इसीलिए घुड़दौड़ को राजाओं का खेल कहा जाता था। इंग्लैंड में सारे चैंपियन घोड़े शाही परिवार की मिल्कियत थे और बाकी देशों में भी यही हाल था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.