छू कर मेरे तन को किया तुमने क्या इशारा…

chukar-tere-man-koकैसेनोवा के बारे में कहा जाता है कि उसने इटली के राजमहलों में हड़कंप मचा दिया था। उसके बारे में यह लोकप्रिय है कि यदि वह किसी महिला के साथ एक घंटा भी बिता लेता था तो वह उसकी दीवानी हो जाती थी। क्या सचमुच कोई ऐसा हो सकता है?

सेक्स विशेषज्ञों के मुताबिक, विवाहित जोड़े अक्सर यह कहते सुने जाते हैं कि उनके संबंधों में अब वह रस नहीं रहा, जो फन और मस्ती उस समय हुआ करती थी जब वह डेटिंग करते थे। मनोविद बर्नी गिल्बरगेल्ड कहते हैं, “”मैं ऐसे जोड़ों से यही कहता हूँ, लौटो, पीछे लौटो, उन दिनों में लौटो जब तुम दोनों डेट पर हुआ करते थे। … और वही करो। फिर देखो, जिन्दगी हसीन होती है या नहीं।”

विजय रसगोत्रा (बदला हुआ नाम) एक कम्पनी में प्रोजेक्ट एक्जीक्यूटिव हैं। 35 वर्षीय विजय कहते हैं कि एक दिन वह अपनी 30 वर्षीय पत्नी रिया के साथ एक बहुत कम मशहूर किले को देखने गये थे, जिसे शायद ही कोई देखने आता हो। मगर उन दोनों को यह इसलिए आकर्षित करता था कि वह एक प्रोजेक्ट के सिलसिले में पहली बार इसी किले से कुछ किलोमीटर दूर स्थित साइट पर मिले थे। इसलिए इस किले को लेकर उनका आकर्षण बहुत निजी किस्म का था। इसी आकर्षण के चलते एक दिन विजय अपनी पत्नी के साथ उस किले को देखने को चल दिए ताकि अपने प्यार की पुरानी यादों को ताजा कर सकें। सुनसान किले से लौटते समय रात हो गयी। ऊपर से बारिश ने उनका रास्ता रोक लिया। इसलिए उन दोनों ने कई घंटे अकेले सुनसान इलाके में कार के अंदर बिताए। विजय का कहना है कि यह एकांत हैरतअंगेज रहा। “”हमारे 3-4 घंटे अकेले और इस कदर अंतरंग रहे कि कई सालों से जो ऊब और संबंधों में जो थकान महसूस हो रही थी, वह एक झटके में उड़ गयी। हम दोनों चार्ज हो गए। लगा कि जैसे हमारी जिन्दगी में इस एकान्त और अंतरंगता की ही जरूरत थी।”

कुछ ऐसा ही अनुभव 35 वर्षीय किरन का भी रहा। एक अंतर्राष्टीय टूर ऑपरेटिंग कम्पनी में गाइड किरन बताती हैं कि उनके 38 वर्षीय पति ने एक दिन अचानक उनसे कहा कि- आओ, चलो नाइट आउट पर चलते हैं। मैंने कहा- कहॉं, उन्होंने कहा- कहीं भी, और फिर हम दोनों ने अपने ही शहर के एक टूरिस्ट लॉज में किराए पर कमरा बुक कराया और एक रात घर से दूर टूरिस्ट लॉज में रहे। किरन कहती हैं- “”मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकती कि उस एक रात ने हमारी जिन्दगी में कितनी खुशियॉं, कितना जोश और कितना उत्साह भर दिया। हम अपनी थकी हुई, एकरस और काम के बोझ से लदी जिन्दगी से परेशान थे। उस रात की अंतरंगता ने कमाल कर दिया। हालॉंकि हमने ऐसा कुछ नहीं किया जो घर में नहीं करते थे। बस एकान्त और अंतरंगता के भाव ने कमाल कर दिया और हमारी जिन्दगी में बिजली का-सा करंट आ गया। हम उस रात का एहसास कभी नहीं भूल सकते।”

दरअसल, यह दिल के अन्दर उड़ान भरने वाली अनुभूतियॉं या एहसास ही होते हैं जो हमें जोश और कल्पना से तर-बतर कर देते हैं। प्यार में खुलकर एक-दूसरे से अंतरंग होने से जमी हुई बर्फ पिघल जाती है और संबंधों में आया ठहराव दूर भाग जाता है। मनोविद कहते हैं, “”बेस्ट सेक्स विवाहित सेक्स होता है” बशर्ते, पति और पत्नी प्यार और चुम्बकीय आकर्षण की अंतरंगता से परिचित हों। अगर आप चाहते हैं कि आपकी जिन्दगी में उत्तेजना, मासूमियत भरी खुशी और उछलता हुआ जोश फिर से लौट आए, न सिर्फ बिस्तर में बल्कि सुबह-शाम और दोपहर के साथ में भी, तो अपने रिश्तों को ज्यादा से ज्यादा सेंसुअल बनायें। विशेषज्ञों के मुताबिक अगर आप ऐसा करने में सफल रहते हैं, तो आप न सिर्फ भरपूर प्यार और सेक्स इंज्वॉय कर पाएँगे बल्कि सामान्य जिन्दगी भी ज्यादा जी सकेंगे।

इसके लिए आपको कुछ ज्यादा नहीं करना है। सिर्फ पॉंच इन्द्रियों को जगाना है। ये पॉंच इंद्रियॉं हैं – छूना, देखना, सुनना, महसूस करना और भरपूर स्वाद लेना। खुश जोड़े कहते हैं कि ये पॉंचों इंन्द्रियॉं मिलकर उनकी छठी इंद्रिय को जगा देती हैं। यह छठी इंद्रिय होती है- जीवन का भरपूर लुत्फ। इस छठी इंद्रिय को जगाने में सबसे अहम भूमिका होती है स्पर्श की। स्पर्श एक बहुत ही नाजुक और संवेदनशील एहसास है। अगर आपमें किसी को छूने की तमीज आ जाय, तो आप पत्थर दिल में भी आग भर सकते हैं। ज्यादातर सेक्सोलॉजिस्ट पाते हैं कि अक्सर जोड़े आलिंगन और किस बड़ी औपचारिक गतिविधियों की तरह निपटाते हैं- जैसे खाना खा रहे हों, जबकि ये पूरे मनोवेग और नशीले अंदाज में किये जाने चाहिए। तब इसकी एक रासायनिक प्रक्रिया होती है और यह अंतरंगता ही नहीं, उत्तेजना को भी नए शिखर तक पहुँचा देती है। सेक्स विशेषज्ञ कहते हैं महिला और पुरुष दोनों की अंतरंगता महक भरी हो । लगे कि जैसे दिल की धड़कनें ही नहीं, साथी के दिल की खुशबू का भी आप अहसास कर रहे हैं । याद रखें, मादक स्पर्श से शरीर से ऐसे रासायनिक तत्व का स्राव होता है जो मूड को खुश करता है और दिल को खुशी से अहसास से लबरेज कर देता है। जो जोड़े अक्सर अंतरंग छुअन का आनंद लेते हैं, वे अपने संबंधों को बहुत अच्छा पाते हैं। उनके बीच हमेशा जबरदस्त कमिटमेंट और बॉडी लैंग्वेज देखने को मिलती है। ऐसे जोड़े हमेशा एक-दूसरे पर कुर्बान रहते हैं और एक-दूसरे के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार रहते हैं।

 

– दिव्य ज्योति नंदन

One Response to "छू कर मेरे तन को किया तुमने क्या इशारा…"

  1. Mahendra kanakhara   August 27, 2015 at 4:50 am

    Bahuthi achi bat.Kahi sadi suda logo ki jindgime naya rang bhar dagi.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.