डिजाइनर आमना शरीफ

“कहीं तो होगा’ की कशिश यानी आमना शरीफ की लोकप्रियता अब भी बदस्तूर कायम है। इस धारावाहिक में उनके डेस सेंस की जमकर तारीफ हुई थी। आमना कहती हैं, “फैशन डिजाइनिंग मेरी पहली पसंद है। कभी मौका लगते ही कागज पर तरह-तरह के परिधान का डिजाइन बनाती थी। बाद में दर्जी से उस डिजाइन के कपड़े बनवा लेती थी। आज भी वह आदत नहीं गयी है। अभिनय में न आती तो आज शायद बांद्रा में ही एक बुटिक खोल कर बैठ जाती। शुरू-शुरू में आमना शूटिंग के सेट पर भी घर से अपने परिधान लेकर जाती थी। उनका ख्याल था कि सेट के परिधान की फिटिंग्स और मैटीरियल अच्छा नहीं होता है। बाद में बालाजी में उनकी यह धारणा टूटी। उन्होंने बालाजी के डिजाइनर से सलाह करके खुद अपने परिधन बनवाना शुरू कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.