भानुमती का पिटारा

दूध से दाढ़ी बनाने से एकदम चिकनी दाढ़ी बनती है। इसके लिए हल्के गुनगुने पानी से चेहरा भिगाने के बाद थोड़ा-सा कच्चा दूध लेकर चेहरे पर अच्छी तरह मलिये, अब रेजर चलाइये। दाढ़ी बनाने के बाद ाीम वगैरह लगाने की जरूरत एकदम समाप्त हो जायेगी, क्योंकि कच्चा दूध अव्वल दर्जे का ‘क्लीनिंग एजेंट’ है तथा साथ ही चेहरे की स्निग्धता और सौंदर्य में वृद्धि होगी सो अलग।

दिन में एक-दो बार सरसों के तेल में थोड़ा नमक और हल्दी मिलाकर दांतों-मसूड़ों की मालिश करते रहने से कृमिदंत आदि तमाम बीमारियाँ नहीं होती। यह दांतों के लिए बेहद आसान, सस्ता और कारगर उपाय है।

मुँह की दुर्गंध दूर करने के लिए दोनों समय भोजन के बाद अथवा यदा-कदा सौंफ चबाना चाहिए। इससे हाजमा भी दुरुस्त होता है।

कोई भी चीज तलते समय उसमें इमली का छोटा टुकड़ा डालने से तलने में तेल कम जलता है।

 

आंवला, रीठा, शिकाकाई को रात को पानी में भिगो कर, सुबह उबालकर, उस पानी से बाल धोने से बाल सफेद होने एवं झड़ने से बचेंगे।

आंवला, ब्राह्मी, भृंगराज व काले तिल को सम मात्रा में लेकर मिक्स करके चूर्ण बना लें। रोजाना एक चम्मच खाने से बालों को सही पोषण मिलेगा।

बालों को झड़ने से बचाने के लिए एरंडी का तेल कुनकुना गरम करके बालों की जड़ों में हल्के-हल्के मालिश करें।

तिल के फूल, गोखरु व सेंधा नामक मिलाकर लेप लगाने से नये बाल उग आते हैं।

खोपरे के तेल में मुलेठी, ब्राह्मी तथा मेहंदी के पत्ते डालकर उबालें और ठंडा होने पर बॉटल में भरकर रखें। इससे नियमित रूप से बालों में मालिश करने से बाल लंबे, घने, काले तथा चमकीले होंगे और बालों का सही पोषण भी होगा।

 

सर्दी के दिनों में नमक के ज़ार में नीचे ब्लॉटिंग पेपर रख कर, ऊपर नमक डालने से नमक नम नहीं पड़ता है।

नींबू के रस की बूंदें जमीन पर गिरने से अगर वहाँ पर सफेद धब्बे पड़ जाएँ तो, ऐसे में नमक में पानी डालकर रगड़ने से धब्बे चले जाते हैं।

नान का आटा सोडावॉटर से गूंधने ने नान टेस्टी और मुलायम बनती है।

मनीप्लांट लगाते समय मिट्टी में प्याज की पत्तियाँ मिलाने से पौधा तेजी से बढ़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.