स्वास्थ्य, शिक्षा के लिए बड़ा अवसर है डिजिटल इंडिया: अनिल अग्रवाल

digital-indiaअरबपति उद्योगपति अनिल अग्रवाल ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘डिजिटल इंडिया’ पहल से ग्रामीण इलाकों में शिक्षा व स्वास्थ्य क्षेत्र में बड़े अवसर खुलेंगे और बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

वेदांता रिसोर्सेज के प्रमुख अग्रवाल ने पीटीआई भाषा से कहा,‘ मैं इस :डिजिटल इंडिया कार्य्रकम: को लेकर बहुत उत्साहित हूं। यह ऐसी चीज है जो भारत को जोड़ेगी। यह शिक्षा, हेल्थकेयर लाएगी.. गांवों में शहरीकरण होगा। यह भारत को आपस में जोड़ेगी।’ उल्लेखनीय है कि अग्रवाल स्टरलाइट टेक्नालाजीज लिमिटेड :एसटीएल: के गैर कार्यकारी चेयरमैन भी हैं। एसटीएल देश भर की ग्राम पंचायतों को ब्राडबैंड से जोड़ने के लिए आप्टिक्ल फाइबर नेटवर्क बिछाने के काम में मुख्य रूप से जुड़ी है।

यहां ‘डिजिटल इंडिया सप्ताह’ की शुरआत के कार्य्रकम में भाग लेने आए अग्रवाल ने इस अभियान के बड़ी सफलता हासिल करने का भरोसा जताया। उन्होंने कहा,‘ 50 करोड़ लोग इंटरनेट पर एक साथ आएंगे। ऐसा दुनिया में पहले कभी नहीं हुआ। अगर लोग इंटरनेट के जरिए शिक्षा, इंटरनेट के जरिए हेल्थकेयर हासिल कर सकें तो यह अद्भुत होगा।’ ‘डिजिटल इंडिया’ अभियान का उद्देश्य देश के नागरिकों को सभी जरूरी सेवाएं इंटरनेट के जरिए उलपब्ध कराना है ताकि भारत को डिजिटली सक्षम समाज बनाया जा सके।

अग्रवाल ने कहा कि इस कार्य्रकम से अपराधों में कमी लाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा,‘ अपराध कम होंगे। यह बड़ी चीज है और इसे करना भी आसान है।’ मजाकिया लहजे में उन्होंने कहा,‘ इसके लिए किसी पर्यावरणीय मंजूरी की जरूरत नहीं होगी।’ रोजगार के अवसरों पर उन्होंने कहा,‘ हमें गरीबी उन्मूलन कर रोजगार सृजित करने होंगे। अगर आपके पास यह कनेक्टिविटी होगी तो शिक्षा शुरू होगी और चीजें बदल जाएंगी। यह मेक इन इंडिया कार्य्रकम का विस्तार होगा।’ एसटीएल के मुख्य कार्यकारी आनंद अग्रवाल ने कहा कि इस पहल से भारत डिजिटली सक्षम होगा और वेदांता समूह की कंपनी इसमें बड़ी भूमिका निभाना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.