19वीं सदी में दिल्ली में लगता था अंग्रे़जी विवाह बाजार

19वीं सदी में दिल्ली में लगता था अंग्रे़जी विवाह बाजार

19वीं सदी में भारत में शासन कर रही ब्रिटिश सरकार को यहां कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। अंग्रेजों के खाने, रहने और सुरक्षा की एक ओर चिंता थी तो वहीं ईस्ट इंडिया कंपनी को अंग्रेज पुरुष अधिकारियों के वैवाहिक जीवन की भी चिंता थी। एक अनुमान के अनुसार 19वीं सदी के प्रारंभ […]

आस्था या करिश्मा कुदरत का

आस्था या करिश्मा कुदरत का

अमवां की सती का स्थान! चबूतरे के पास मरणासन्न अवस्था में कई पुरुष! महिलाएं व बच्चे, जिन्हें क्षेत्र के दूरदराज स्थानों पर सांपों ने डंस लिया था। कुछ के हाथ सांपों के रेंगने जैसे अंदाज में हिल रहे थे, अचानक एक 12 वर्षीय लड़का अंग़डाई लेते हुए उठ बैठा और फिर अपना माथा पटक दिया, […]

आखिर रहस्य क्या था पंडित के पत्र का

जीवन में हर पग पर नया अनुभव होता है। अनुभवों का नाम ही जीवन है। जितना अधिक अनुभव किसी क्षेत्र विशेष का हो जाता है, मानव उस क्षेत्र में उतना ही विद्वान हो जाता है। इसी तरह सफलता भी उसी तांत्रिक-साधक को ही मिलती है, जो अपने किताबी-ज्ञान के साथ उस क्षेत्र विशेष में कर्मकांड […]

खत्म हुआ तांत्रिक का तिलस्म

तंत्र सम्राट बाबा गोरखनाथ के सामने स्नेहा आँखें मूंदे बैठी थी और वह इंसानी खोपड़ी को हाथ में पकड़े कोई मंत्र बुदबुदा रहा था। समीप ही उसके दो चेले भी बैठे थे। चंद पलों के बाद गोरखनाथ ने दहाड़ते हुए कहा, “”खुदा के कर्म से आज तू शैतानी आत्मा से मुक्त हो जाएगी। चल अपनी […]

रहस्यमय है संसार

प्रकृति में कितने ही रहस्य ऐसे हैं, जिनका सुलझना संभव ही नहीं है। आदमी का जीवन छोटा पड़ जाता है, माया के चक्कर में। कभी स्वयं के लिए कामना, कभी परिवार के लिए कामना, मात्र कामना करते-करते ही शरीर पूर्ण हो जाता है, मिट्टी हो जाता है। मथुरा के बांके बिहारी मंदिर में मूर्ति के […]

अजब-गजब मौतें

अजब-गजब मौतें

शैम्पेन की बोतल के अचानक खुलने वाले कॉर्क की चोट से, उन्मुक्त हो चुके हाथी के पांवों के नीचे कुचलकर, वियाग्रा के अति सेवन से तथा इसी तरह की और भी मामूली तथा अजीबोगरीब वजहों से न जाने कितने लोग असमय ही भगवान को प्यारे हो गए। हाल ही में प्रकाशित एक पुस्तक में ऐसे […]

क्या है सिक्स्थ सेंस

क्या है सिक्स्थ सेंस

श्रेयांस जयपुर जाने के लिए घर से निकला। रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद एकाएक उसे लगा कि ट्रेन से नहीं जाना चाहिए और उसने ऐन मौके पर जाने का इरादा त्याग दिया। रात के समाचार में उसने देखा कि उस ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से सैकड़ों यात्री मारे गये। यह सिक्स्थ सेंस ही है, […]

जासूसी के लिए स्त्रियों की जरूरत

जासूसी के लिए स्त्रियों की जरूरत

मरिया कुंथ बहुत ही आकर्षक जर्मन अभिनेत्री थी। हेंको कुंजे उसका पति था। किसी कारणवश ऐसा संयोग हुआ कि वह जासूसी के जाल में फंस गयी। जासूसी का यह जाल बर्लिन में सोवियत जासूसों द्वारा फैलाया गया था, जिसका मुखिया पोलैंड का एक भूतपूर्व सैन्य अधिकारी कर्नल ग्रेवर कोवल्स्की था। भूतपूर्व सैन्य अधिकारी कला का […]

जब भगवान शंकर वकील बने

जब भगवान शंकर वकील बने

ईश्र्वर की माया अनन्त है। जब भक्त सच्चे मन से ईश्र्वर की आराधना करता है, तो ईश्र्वर भी किसी न किसी रूप में आकर अपने भक्त की सहायता अवश्य ही करते हैं। इस कलियुग में भी ईश्र्वर अपने भक्त की सहायता करने के लिए आते हैं, यह इस सच्ची घटना से प्रमाणित हो जाता है। […]

वहॉं आधी रात को भी दिखाई देता है सूर्य

वहॉं आधी रात को भी दिखाई देता है सूर्य

दोस्तों! यदि आपसे कहा जाए कि हमारी पृथ्वी पर ऐसे भी कुछ स्थान हैं, जहॉं वर्ष के कुछ खास महीनों में आधी रात को भी सूर्य के दर्शन होते हैं, तो आपको विश्वास नहीं होगा। परंतु यह सत्य है। आओ, मध्य-रात्रि के समय सूर्य के दिखाई देने वाली घटना के बारे में जानें। आप लोग […]